Friday, 21 December 2018

अपस्टॉक्स ने हाईस्पीड मार्जिन ट्रेडिंग फैसिलिटी (एमटीएफ) शुरू की | Kosar Express


मशहूर उद्योगपति रतन टाटा, कलारी कैपिटल एवं जीवीके डेविक्स से आर्थिक सहायता प्राप्त नये जमाने की ऑनलाइन डिस्काउंट ब्रोकरिंग कंपनी अपस्टॉक्स ने मार्जिन ट्रेडिंग फैसिलिटी (एमटीएफ) शुरू की है, जिसकी सेवा अपस्टॉक्स ग्राहक चंद सेकेण्ड में हासिल कर सकते हैं। इससे शेयरधारकों को इक्विटी कारोबार के दौरान अपनी मार्जिन जरूरतों को पूरी करने के लिए कहीं भी, कभी भी तुरंत फंडिंग पाने में आसानी होगी।


इसके साथ ही, अपस्टॉक्स केवल तीन क्लिक में तीव्रतम उत्प्रेरण (एक्टीवेशन) के माध्यम से एमटीएफ सुविधा हासिल करने की जटिल प्रक्रिया को आसान बनाती है। अपस्टॉक्स यूजर्स अब अपने मोबाइल अथवा वेब प्लेटफॉर्म के जरिये एक्टिवेट बटन पर क्लिक करके, सेवा के नियम एवं शर्तें स्वीकार करके तथा अंतिम चरण में प्राप्त ओटीपी डालकर एमटीएफ सुविधा एक्टिवेट कर सकते हैं। इस प्रकार अपस्टॉक्स एमटीएफ सेवा हासिल करने में बेवजह की रेड टेप को समाप्त करती है और त्वरित एक्टिवेशन प्रक्रिया के जरिये पंजीकरण में लगने वाले समय को कम करती है, साथ ही यह सेवा को सस्ती भी बनाती है। पूर्व में बाजार हिस्सेदारों को भारी सब्सक्रिप्शन फीस चुकानी पड़ती थी, लेकिन अपस्टॉक्स इस सेवा के तहत 50,000 रुपये की फंडिंग के वास्ते प्रतिदिन मात्र 20 रुपये प्रभार लेती है।


अपस्टॉक्स की यह एमटीएफ सुविधा अल्पावधि के लिए शेयर खरीदने की चाहत रखने वाले निवेशकों को लाभ पहुंचायेगी। दीर्घकालिक निवेश वाले शेयर कारोबारी, अस्थिर शेयर कारोबारी तथा कम समय में अच्छा लाभ अर्जित करने की तलाश में रहने वाले निवेशक भी इस सुविधा से लाभ उठा सकते हैं। यूजर्स को यह डिलीवरी स्टॉक्स की खरीद पर दोगुना लाभ की अनुमति देती है। ऐसे यूजर्स को 50 प्रतिशत राशि की आवश्यकता होती है, जबकि पांच लाख रुपये तक की शेष मार्जिन राशि अपस्टॉक्स उपलब्ध कराती है। अपस्टॉक्स के एमटीएफ उत्पाद यह सुनिश्चित करेंगे कि ये निवेशक एवं कारोबारी अधिक या उच्च मूल्य वाले शेयर खरीद सकें और अपने निवेश को लंबे समय तक बरकरार रखें, ताकि उनका लाभ बढ़ सकेगा।

एमटीएफ सुविधा शुरू करने के कारणों के बारे में विस्तार से चर्चा करते हुए अपस्टॉक्स के संस्थापक एवं सीईओ रवि कुमार ने कहा, “लोग फंड के अभाव में शेयर बाजार में सुनहरा अवसर खो देते हैं और बाजार से निकल जाते हैं, खासकर वर्तमान दौर के अस्थिर बाजार की स्थिति में। हमारे हालिया आंकड़े दर्शाते हैं कि करीब 50 प्रतिशत शेयर कारोबारी अपने शेयर एक महीने के भीतर ही बेच देते हैं। चूंकि अधिक से अधिक खुदरा निवेशक अब शेयर बाजार में कदम रख रहे हैं, इसलिए हमने एमटीएफ प्रोडक्ट की आवश्यकता महसूस की, ताकि निवेशक अपने मोबाइल या लैपटॉप के जरिये आसानी से और जल्दी अधिक से अधिक लाभ के अवसर हासिल कर सकें।”

अपस्टॉक्स नये जमाने की डिस्काउंट ब्रोकर कंपनी है, जिसकी नजर लागत से इतर है। यह अपने ग्राहकों को टेक्नोलॉजी टूल्स के माध्यम से निवेश के फैसले के लिए सशक्त बनाती है। इसका ‘जीरो ब्रोकरेज’ मॉडल डिजाइन एवं टेक्नोलॉजी के दूरदर्शितापूर्ण इस्तेमाल से हर स्तर पर लागत में कटौती करके इसका लाभ अंतिम छोर पर बैठे ग्राहकों को देने पर आधारित है।

पिछले एक साल के दौरान इस ब्रोकरेज कंपनी के ग्राहकों की संख्या और कुल कारोबार में कम से कम तीन गुना बढ़ोतरी हुई है। पिछले दो साल में अपस्टॉक्स की पूरे देश में ग्राहकों की संख्या 300 फीसदी बढ़ोतरी के साथ 25 हजार से बढ़कर एक लाख तक पहुंच गयी है। इस अवधि के दौरान राजस्व में भी 200 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। शेयर बाजार के दैनिक अनुमानित कारोबार में अपस्टॉक्स का योगदान प्रतिदिन 14,000 से 18,000 करोड़ रुपये का है। वर्ष 2016 में यह आंकड़ा 5,000 से 6,000 करोड़ रुपये का था।

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.