Thursday, 6 September 2018

Video: Dewas - देवास में दिखा बंद का असर... दुकाने रहीं बंद | Kosar Express

रैली निकालर हाथ जोड़कर दुकानें बंद करने का किया निवेदन

देवास। आरक्षण नीति व एससी-एसटी एक्ट संशोधन विधेयक के विरोध में बंद का आह्वान किया गया है। सपाक्स की सभी इकाइयों के साथ सामाजिक व व्यापारिक संगठनों ने बंद का समर्थन किया है। सुबह से ही शहर के सभी दुकाने बंद रही। व्यापारियों ने खुद बंद का समर्थन करते हुए अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। शहर के अधिकतर स्कूल और कॉलेज भी बंद रहे। बंद के दौरान दूध, सब्जी, मेडिकल स्टोर्स, अस्पताल बंद को मुक्त रखा गया। सपाक्स समाज ने रैली निकालकर शहर की जो दुकानें खुली थी उनको बंद करने का निवेदन किया। बंद को लेकर सुबह से ही प्रशासन मुस्तैद नजर आया। शहर में हर चौराहे पर पुलिस बल तैनात था। वहीं कलेक्टर डॉ.श्रीकांत पांडेय, एसपी अंशुमानसिंह ने भी शहर का भ्रमण कर स्थिति का जायजा लिया। शहर के निजी प्राइवेट स्कूल-कॉलेज भी बंद को लेकर पालक गणों के फोन स्कूल संचालकों के पास घनघनाते रहे। बसें नहीं चलने कारण यात्रियों को आने-जाने में कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। शहर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनातर था। किसी प्रकार की अप्रिय घटना ना हो इस कारण पुलिस प्रशासन द्वारा एतिहाद तौर पर सावधानी बरती जा रही थी। साथ ही धारा 144 भी पहले से लागू कर रखी थी। भारत बंद के समर्थन में सपाक्स समाज की देवास इकाई के सभी सदस्यों ने रैली निकाली। शहर के बाजारों में जो दुकानें खुली थी। उनके संचालकों को हाथ जोड़कर दुकानें बंद करे का निवदेन किया।


पेट्रोल पंप और मेडिकल भी रहे बंद
बंद को लेकर शहर के अधिकतर पेट्रोल पंप भी बंद रहे। लोगों ने एक दिन पहले की वाहनों ने बंद को लेकर पेट्रोल भरवा लिया था। वहीं पेट्रोल पंप बंद होने के कारण लोग एक दूसरे पेट्रोल पंप चालू होने को लेकर जानकारी लेते रहे। वहीं शहर के सभी मेडिकल की दुकानें भी बंद होने के कारण मरीज के परिजन पेरशान होते नजर आए।

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.