Wednesday, 30 May 2018

WhatsApp Payment सर्विस अगले हफ्ते तक देशभर में होगी जारी | Kosar Express


नई दिल्ली 
गूगल तेज़ और पेटीएम जैसे प्रतिद्वंदियो के मार्केट शेयर में अपना हिस्सा बनाने के लिए फेसबुक ने कमर कस ली है। तैयार हो जाइये WhatsApp Pay के लिए। फेसबुक मार्केट शेयर में अपनी बढ़त बनाने के इरादे से अगले हफ्ते तक देशभर के यूजर्स के लिए अपनी वॉट्सऐप पेमेंट सर्विस रोलआउट करेगी। इस मामले से जुड़े लोगों ने कहा कि हालांकि, अभी इस सर्विस के लिए कंपनी के पार्टनर्स तैयार नहीं हैं। 


सूत्रों के अनुसार, मेसेजिंग ऐप वॉट्सऐप ने अपनी पेमेंट सर्विस के लिए एचडीएफसी बैंक, आईसीाईसीआई बैंक और ऐक्सिस बैंक के साथ ट्रासफर प्रोसेस करने के लिए साझेदारी की है। इसके अलावा सभी जरूरी सिस्टम सेट होने के बाद स्टेट बैंक ऑफ इंडिया भी कंपनी के पार्टनर्स में शामिल होगा।



फेसबुक का मकसद अपने चारों पार्टनर्स के साथ फुल रोलआउट का था लेकिन अब कंपनी सिर्फ तीन पार्टनर्स के साथ ही शुरुआत करने का फैसला किया है। इसकी वजह प्रतिद्वंदियों कंपनियों का लगातार इस रेस में आगे निकलना। भारत में वॉट्सऐप की पेमेंट क्षेत्र में उसी तरह एंट्री हुई है, जैसे कि चीन में वीचैट ने की थी। वीचैट ने भी मेसेजिंग के बाद ही चीन में पेमेंट सर्विसेज़ की शुरुआत की थी। 

वॉट्सऐप पे के पायलट वर्ज़न को फरवरी में 10 लाख लोगों के साथ शुरू किया गया था। वॉट्सऐप की इस सर्विस को बेहद शानदार रिव्यूज़ मिले थे और बिना सोशल नेटवर्क के फायदे वाले गूगल तेज़ और पेटीएम के लिए यह एक चुनौती है।


ऐंड्रॉयड बिजनस ऐप के लिए वॉट्सऐप ने चैट फिल्टर्स फीचर शुरु किया है जिससे वॉट्सऐप बिजनस अकाउंट्स के एडमिन मैसेज को आसानी से ढूंढ सकते हैं। इस फीचर को इस्तेमाल करने के लिए एडमिन को सिर्फ सर्च बार पर टैप करना होगा।


भारत में 200 मिलियन से ज्यादा लोग पहले से ही वॉट्सऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं। वॉट्सऐप, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और ऐक्सिस बैंक की तरफ से इस बारे में सवाल पूछने पर अभी कोई जवाब नहीं आया है। 

वॉट्सऐप पे सर्विस यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) पर आधारित होगी। भीम, तेज़ और फोनपे जैसी पेमेंट सर्विसेज़ भी यूपीआई का ही इस्तेमाल करती हैं। 

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.