Sunday, 1 July 2018

एक परिवार में 11 रहस्यमयी मौतें, फांसी पर झूलती मिलीं 10 लाशें | Kosar Express




नई दिल्ली। रविवार की सुबह राजधानी दिल्ली के बुराड़ी इलाके में दहशत दौड़ गई। 2 मंजिला मकान की दूसरी मंजिल पर एक साथ 11 शव मिले हैं। इनमें से 10 फांसी पर झूल रहे थे जबकि 11वीं जमीन पर पड़ा हुआ था। फांसी पर झूल रहे सभी शवों की आखों पर पट्टियां बंधी हुईं थीं। पुलिस ने शुरूआती तौर पर इसे सामूहिक आत्महत्या माना परंतु इसके सामूहिक नरसंहार होने से भी इंकार नहीं किया जा सकता। मरने वालों में 7 महिलाएं एवं 4 पुरुष हैं। सभी एक ही परिवार के हैं।

शुरुआती जानकारी के मुताबिक, दो परिवारों के कुल 11 लोग एक ही घर में फांसी के फंदे पर लटके मिले। बताया जा रहा है कि फंदे पर लटके 10 शवों के आंखों पर पट्टी बंधी थी, जबकि एक शव जमीन पर पड़ा हुआ था। पुलिस के जॉइंट सीपी ने कहा कि मृतकों में तीन बच्चे भी शामिल हैं। पुलिस ने बताया कि 11 लोगों के परिवार में दो भाई और उनकी पत्नियां थीं। दो लड़के करीब 16 से 17 साल के थे। मृतकों में एक बुजुर्ग मां और बहनें शामिल हैं। पुलिस के बताया कि 10 लोग फंदे से लटके मिले हैं जबकि एक बुजुर्ग महिला का गला दबाया हुआ है। 10 लोग जो फंदे से लटके मिले हैं वह सभी फर्स्ट फ्लोर पर मिले हैं।

जानकारी के मुताबिक पुलिस को सुबह साढ़े सात बजे शवों की सूचना मिली। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हालांकि अभी यह साफ नहीं है कि यह सामूहिक हत्या का मामला है या सामूहिक आत्महत्या का। इस बीच मौके पर पहुंची पुलिस घटनास्थल का मुआयना कर रही है।

पुलिस का कहना है कि सभी पहलुओं से मामले की जांच की जा रही है, ताकि इसके पीछे की वजहों को सामने लाया जा सके। हालांकि शुरुआती तौर पर पुलिस इसे खुदकुशी का मामला ही मान रही है। वहीं, एक ही घर से 11 शव बरामद होने से इलाके में हड़कंप मच गया है। कहा जा रहा है कि मरने वाले लोग दो भाइयों के परिवार वाले हैं। इनमें से एक का प्लाईवुड का कारोबार था और दूसरे की परचून की दुकान थी।

मप्र 14 जिलों के SP बदले, छिंदवाड़ा एसपी देवास और देवास एसपी रतलाम

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.